ख्याल 

ख्याल 

आज भी ख्यालों में तुम दिख जाती हो

दिल पर मेरे कुछ लिख जाती हो।।

 

वो बात मन की जो कह न सका

ज़स्बात दिल के जो सह न सका।।

 

काश तुमने थोड़ी और बात की होती

मेरे दिल की आग एहसास की होती।।

 

लेकिन अब तुमसे कोई गिला नहीं

कमी शायद हम में थी,  जो हमें कोई मिला नहीं।।

 

Advertisements